मनोविज्ञान और योग

सभी धर्मों का सार योग है, जो मानसिक शाँति प्राप्त करने का श्रेष्ठ मार्ग है। योग का अर्थ होता है...

भस्रिका प्राणायाम

भस्रिका प्राणायाम एक आश्चर्य जनक प्राणायाम है। इसे वासुकी प्राणायाम भी कहते हैं। इस क्रिया को करने में न कोई...

स्त्रियों को भी व्यायाम आवश्यक है

अथर्ववेद में कहा है- “देवैर्दत्तेन मणिना जांगिडेन मयोभुवा। विष्कन्धं सर्वारक्षाँसि व्यायामें सहाभहे।” 2/4/4 अर्थात्-देव प्रदत्त मणि के समान श्रेष्ठ आनन्द...

स्वास्थ्य वर्धक कुछ सरल कसरतें

अमेरिका के मि. सैनफोर्ड वैनेट ने एक महत्वपूर्ण व्यायाम पद्धति का आविष्कार किया है। वे इतने सरल और सीधे हैं...

जीर्ण रोग-उनका कारण और निवारण।

आधुनिक सभ्यता की उन्नति के साथ-साथ मनुष्य अपने स्वाभाविक जीवन से अधिकाधिक दूर होता गया है और उसका जीवन इतना...

अस्वस्थता निवारक यौगिक क्रियाएं

बीमारी आने पर दवादारु करने से कही अच्छा यह है कि आप बीमार ही न पड़ें। इस प्रकार रहें और...

प्राणाकर्षण प्राणायाम

हृदय और मस्तिष्क शरीर के भीतर दो ऐसे प्रधान अंग हैं जिन पर मनुष्य की जीवनी शक्ति एवं मानसिक स्वस्थता...

उपवास साधना

साधनाओं में उपवास का महत्वपूर्ण स्थान है। प्रायश्चित्तों के लिए तथा आत्म शुद्धि के लिए उपवास सर्वोत्तम साधन माना जाता...

आत्म निरीक्षण योग

हानिकारक एवं विजातीय तत्व वहाँ एकत्रित होते हैं, जहाँ ढीलढाल या लापरवाही रहती है, चौकसी निगरानी देखभाल, जाँच पड़ताल का...

आत्म जागरण योग

योग शास्त्रों के कथनानुसार साधना का प्रयोजन यह है कि “हम अपने वास्तविक स्वरूप को समझें, आत्मा का दर्शन और...